DOSTI DARD NAHI


Posted on 3rd Mar 2020 12:22 pm by sangeeta

दोस्ती दर्द नहीं खुशियों की सौगात है,

किसी अपने का ज़िन्दगी भर का साथ है,

ये तो दिलों का वो खूबसूरत एहसास है,

जिसके दम से रोशन यह साड़ी कायनात है,

गुनाह कर के सजा से डरते हैं,

नेहर पी के दवा से डरते हैं,

दुश्मनों के सितम का खौफ नहीं हमें,

हम दोस्तों के खफा होने से डरते हैं,

0 Like 0 Dislike
Previous poetry Next poetry
Other poetry

Wo humse kyon ruth gaye,

Tor late tare bhi hum unke liye

us nile aasman se,

Mit jate hain nafrat bhi

The Ghost Of My Past

Fumbling, stumbling,

around in the dark.

Fighting, igniting,

flames from

JHANDA LEHRATA RAHE YAHI ORIT RE

गली गली में बजते देखे आज़ादी के गीत रे |

Quite possibly

To laugh often and much;

To win the respect of intelligent people

and the affecti

So Much For My First Love

I've loved you since I met you,

Though there's nothing I can do.

You've hurt my f

Sign up to write
Sign up now to share your poetry.
Login   |   Register
Follow Us
Indyaspeak @ Facebook Indyaspeak @ Twitter Indyaspeak @ Pinterest RSS



Play Free Quiz and Win Cash