Friendship Poems

AFSAANE KA DUKH OR SUKH

सुख-दुख के अफसाने का,

ये राज है सदा

DOSTI DARD NAHI

दोस्ती दर्द नहीं खुशियों की सौगात है,

DOST WO HAI

दोस्त वो है जो बिन कहे समझ लेता है हर ब

TERI DOSTI KI ADAT

तेरी दोस्ती की आदत सी पड़ गयी है मुझे,

ZINDAGI KI SAFAR ME MILE

दो ओस की बूंद जैसे,जिंदगी के सफ़र में म

DOSTI KA RISHTA

कहते हैं कि दोस्ती का रिश्ता,

बडाह

DOST JAB AAP JAISA MILA KARTA HAI

साथ अगर दो तो मुस्कायेंगे जरुर

प्

EA DOSTO PHONE KARLEANA

जब कभी दुःखने लगे दिल, जब कभी मन छलक जा

Sare dosto ko samarpit

अगर बिकी तेरी दोस्ती… तो पहले खरीद

HAR KHUSHI DOSTO KE SATH

हर ख़ुशी तकलीफ, साथ साथ जिया करते थे

Sachi dosti ko ek rishta mil jata hai

प्यार को मत समझो पूरा

उसका पहला अक

Har rishte me dosti nahi milti

हर रिश्ते में दोस्ती नहीं मिलती।

Pyar ka mitha dariya

दोस्ती

प्यार का मीठा दरिया है,पुक

Umar bhar nibhana

ये तो फूल है जिन्दगी की राहों को महका

Farz hai jo umar bhar nibhana hai

सुख-दुख के अफसाने का

ये राज है सदा

Dosti kya hai

क्या खबर तुमको दोस्ती क्या हैं

ये

har uski ladai mein

दोस्ती में हमने दोस्तो को नजराना पेश

hume akele chodne ka irada kun

दोस्ती का वादा किया था।,साथ निभाने का

mujhe kya fikar

उलझनों और कश्मकश में उम्मीद की ढाल लि

doston dekho insaan kahan se kahan ja raha hai

अपने दोस्त को जो उधार दे वो मूर्ख कहल

 

Sign up to write
Sign up now to share your poetry.
Login   |   Register
Follow Us
Indyaspeak @ Facebook Indyaspeak @ Twitter Indyaspeak @ Google+ Indyaspeak @ Pinterest RSS